माता वैष्णो देवी मंदिर में मामूली कहासुनी के कारण भगदड़, 13 की मौत

माता वैष्णो देवी मंदिर में मामूली कहासुनी के कारण भगदड़, 13 की मौत

नए साल के मौके पर माता वैष्णो देवी मंदिर में भगदड़ मचने से 13 लोगों की मौत होने की खबर है। जम्मू-कश्मीर के रियासी जिले की पुलिस ने बताया कि फिलहाल राहत एवं बचाव कार्य पूरा हो चूका है और स्थिति नियंत्रण में है। सोशल मीडिया पर भगदड़ के कुछ वीडियो जारी हुए हैं। इनमें दावा किया जा रहा है कि नए साल के मौके पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु माता के दर्शन के लिए पहुंचे थे। इसी दौरान भगदड़ मच गई। इसके चलते बहुत से श्रद्धालु बिना दर्शन किए ही वापस लौट रहे हैं। मृतक लोगों में दिल्ली, हरियाणा, पंजाब से आए श्रद्धालु शामिल हैं।

अधिकारियों ने बताया कि 20 और लोग घायल हो गए और उनमें से अधिकांश का माता वैष्णो देवी नारायण सुपरस्पेशेलिटी अस्पताल में इलाज चल रहा है. मंदिर खुला है और अंतिम रिपोर्ट आने तक श्रद्धालु पूजा-अर्चना कर रहे थे.

माता वैष्णो देवी भवन में भगदड़ मामले की जांच के लिए उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने उच्च स्तरीय कमेटी गठित की है। जांच कमेटी की अध्यक्षता प्रिंसिपल सेक्रेटरी (गृह) करेंगे। इसके अलावा जम्मू के एडीजीपी और डिवीजनल कमिश्नर इसके सदस्य होंगे।

गेट नंबर तीन के पास भगदड़

अधिकारियों ने बताया कि भगदड़ मंदिर के गर्भगृह के बाहर गेट नंबर तीन के पास हुई. नए साल की शुरुआत पर मंदिर में दर्शन करने पहुंचे श्रद्धालुओं की भारी भीड़ के कारण भगदड़ मच गई. एक वरिष्ठ अधिकारी और श्राइन बोर्ड के प्रतिनिधि मौके पर मौजूद हैं. अधिकारियों ने कहा कि भगदड़ में 13 लोगों की मौत हो गई और शवों को पहचान और अन्य कानूनी औपचारिकताओं के लिए कटरा आधार शिविर के एक अस्पताल में भेजा गया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भगदड़ में मारे गए लोगों के परिजनों के लिए अनुग्रह राशि के रूप में सभी को 2 लाख रुपये की मंजूरी दी है। उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने मृतकों के परिजनों को 10-10 लाख रुपये और घायलों को दो-दो लाख रुपये देने की घोषणा की। शनिवार तड़के करीब 2.45 बजे जब बड़ी संख्या में श्रद्धालु बिना अनुमति वाली पर्ची के माता वैष्णो देवी भवन में दाखिल हुए तो भगदड़ मच गई।

जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने कहा

जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने एएनआई को बताया कि कटरा के माता वैष्णो देवी भवन में मची भगदड़ में 12 की मौत हुई है जबकि 13 घायल हुए र्हैं. घटना लगभग 2:45 बजे हुई, और प्रारंभिक रिपोर्टों के अनुसार, एक बहस हुई, जिसके परिणामस्वरूप लोगों ने एक-दूसरे को धक्का दिया. जिसके बाद भगदड़ मच गई.

80 हजार के करीब श्रद्धालु पहुंचे थे, तय नहीं थी लिमिट

वैष्णो देवी मंदिर परिसर के ड्यूटी ऑफिसर जगदेव सिंह ने बताया कि मृतकों में एक शख्स जम्मू-कश्मीर के ही राजौरी का रहने वाला है। इसके अलावा अन्य 11 लोग देश के अलग-अलग राज्यों के हैं। अब तक मृतकों में से 7 लोगों की पहचान कर ली गई है। 5 अन्य लोगों की पहचान का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि नए साल की पूर्व संध्या पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु जुटे थे। मंदिर में करीब 70 से 80 हजार श्रद्धालु पूजा अर्चना के लिए पहुंचे थे। एक स्थानीय दुकानदार ने कहा कि श्राइन बोर्ड ने श्रद्धालुओं की संख्या तय नहीं की थी। उन्होंने कहा कि त्रिकुटा हिल्स में ज्यादा श्रद्धालु नहीं ठहर सकते हैं। ऐसे में उन्हें कटरा बेस कैंप में ही रोकना चाहिए था और उनकी लिमिट तय करनी चाहिए थी।

माता वैष्णो देवी यात्रा फिर से शुरू

माता वैष्णो देवी यात्रा फिर से शुरू हो गई है. आज सुबह कटरा में माता वैष्णो देवी भवन में भगदड़ मचने से 12 लोगों की मौत हो गई.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *