मध्य प्रदेश के शिवपुरी में स्थापित किया गया स्वचालित मौसम केंद्र

वरिष्ठ वैज्ञानिक वेद प्रकाश सिंह के अनुसार, भूतल मौसम विज्ञान वेधशाला स्वचालित मौसम स्टेशन (एडब्ल्यूएस) के साथ चालू हो गई है और अब शिवपुरी जिले में पूरी तरह से चालू है।

वेद प्रकाश सिंह ने कहा कि अगले कुछ दिनों में इसे ग्वालियर में स्थापित कर दिया जाएगा, जिससे राज्य में हाई-टेक सिस्टम की संख्या 24 हो जाएगी।

शिवपुरी जिले के मौसम की सटीक जानकारी वर्तमान में नही मिल पाती,एक अनुमानित ही जानकारी हमारे पास आती हैं,कारण जिले के तापमापी यंत्र खराब हो चुके थे। शिवपुरी में सन 1984 में मौसम विभाग ने तापमापी केंद्र स्थापित किया था। समय के साथ उक्त तापमापी केंद्र के उपकरण खराब होते चले गए।

शिवपुरी में नई वेधशाला आफिसर कालोनी में स्थापित हुई है। प्रशासन ने वहां बने हुए पुराने पंप हाउस की जगह वेधशाला के लिए आवंटित कर दी थी। प्रशासन की ओर से जो अनापत्ति प्रमाण पत्र मौसम विभाग के निदेशक को भोपाल भेजा था, उसमें उल्लेख किया गया था कि मौसम विज्ञान केंद्र भोपाल द्वारा मौसम वेधशाला/स्वचलित मौसम यंत्र जिला कलेक्टर कार्यालय शिवपुरी, आफीसर कालोनी में पार्क के सामने पुराने पंप हाउस की जगह में क्षेत्र 10 बाई 10 वर्गमीटर और कमरा मौसम वेधशाला स्थापित करने हेतु पर्याप्त जगह है।

भारतीय मौसम विभाग चरणबद्ध तरीके से अपने सतही अवलोकन नेटवर्क को मजबूत करने की प्रक्रिया में है।

नेटवर्क का विस्तार एडब्ल्यूएस और स्वचालित रेन गेज (एआरजी) स्टेशनों के साथ किया जा रहा है। वायु तापमान, सापेक्ष आर्द्रता, वायुमंडलीय दबाव, वर्षा, हवा और वैश्विक सौर विकिरण के मापदंडों के लिए सेंसर प्रत्येक एडब्ल्यूएस के साथ जुड़े हुए हैं। मिट्टी के तापमान, मिट्टी की नमी, छुट्टी के तापमान और नमी आदि के मापदंडों के लिए अतिरिक्त सेंसर के साथ कुछ एडब्ल्यूएस कृषि-एडब्ल्यूएस होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *