मध्य प्रदेश में आयकर विभाग की छापेमारी में नौ करोड़ की संपत्ति जब्त

आयकर विभाग ने खनन, चीनी उत्पादन और शराब के कारोबार में शामिल एक समूह के खिलाफ एक छापामारी कर मध्य प्रदेश में नौ करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति जब्त की है।

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (सीबीडीटी) ने बुधवार को यह जानकारी दी।मध्य प्रदेश और मुंबई में इस ग्रुप के परिसरों पर 14 जुलाई को छापा मारा गया।

विभाग ने आज यहां जारी बयान में कहा कि यह कार्रवाई की गयी थी। इस समूह का प्रमुख व्यक्ति एक राजनीतिक पद पर है। इस दौरान बड़ी संख्या में दोषी ठहराने योग्य दस्तावेज और डिजिटल साक्ष्य प्राप्त हुए हैं और उन्हें जब्त किया गया।

बालू खनन व्यवसाय के जब्त साक्ष्यों के विश्लेषण से पता चलता है कि यह समूह नियमित खाता-बही में बिक्री दर्ज नहीं करके कर चोरी में शामिल रहा है।

विभाग ने ‘रॉयल्टी के गैर भुगतान या बिना लेखा-जोखा वाली बिक्री’ का भी पता लगाया। सीबीडीटी ने आरोप लगाया, ‘‘ इस ग्रुप ने 10 करोड़ रूपये से अधिक धनराशि अन्य सहयोगी कारोबारियों को नकद में दी जिसका नियमित बही-खातों में जिक्र नहीं है।’’

वहीं, चीनी उत्पादन व्यवसाय के मामले में भंडार में अंतर से संबंधित मामलों का भी पता चला है।

बयान के अनुसार तलाशी के दौरान एक ऐसे ही बेनामीदार ने कबूला कि वह महज तनख्वाह प्राप्त कर्मी है और उसे कारोबार से संबंधित विषयों की कोई जानकारी नहीं है और न ही उसे ऐसे कारोबार से कोई लाभ प्राप्त हुआ।

अब तक की गई छापामारी की कार्रवाई में नौ करोड़ रुपये से अधिक की अघोषित संपत्ति जब्त की जा चुकी है

Leave a Reply

Your email address will not be published.