मदीना: मस्जिद ए नबवी की पवित्रता का उल्लंघन के मामले में छह पाकिस्तानी नागरिकों को सजा

मस्जिद-ए-नबवी जिसे अक्सर पैगंबर की मस्जिद कहा जाता है, सऊदी अरब के शहर मदीना में स्थित इस्लाम का दूसरा पवित्र स्थान है।

मस्जिद-ए-नबवी का निर्माण पैग़म्बर मुहम्मद ने सन् 622 अथवा 623 में करवाया था।

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ की सऊदी अरब यात्रा के दौरान मदीना में मस्जिद ए नबवी की पवित्रता का उल्लंघन करने के मामले में छह पाकिस्तानी नागरिकों को दोषी करार देते हुए आठ से दस साल की सजा सुनाई है।

रिपोर्ट के मुताबिक मदीना की एक अदालत ने तीन पाकिस्तानी नागरिकों अनस, इरशाद और मुहम्मद सलीम को 10-10 साल की जेल की सजा दी।

वहीं तीन अन्य ख्वाजा लुकमान, मुहम्मद अफजल और गुलाम मुहम्मद को आठ वर्ष की सजा सुनाई गयी है। इसके अलावा दोषियों 20-20 हजार सऊदी रियाल का जुर्माना लगाने के साथ ही उनके मोबाइल फोन भी जब्त कर लिये गये हैं।

जियो न्यूज ने राजनयिक सूत्रों के हवाले से अपनी रिपोर्ट में यह जानकारी दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.